loading...

जो आपको चाहिए यहाँ खोज करे

loading...

रविवार, 20 अगस्त 2017

जब बच्चा करे बार बार उल्टी दस्त घरेलू उपचार करे -When the child repeatedly vomits, heals home remedies -

By
loading...
बरसात का नमी वाला मौसम है और इस मौसम में बच्चो में उल्टी और दस्त होना बहुत ही आम है ये जानलेवा भी हो सकता है । जब भी आपके बच्चे को उल्टी या दस्त या दोनों ही शुरू हो जाएँ तो आपको फौरन कोई भी तरल पदार्थ देना शुरू कर देना चाहिए।ऐसी स्थिति में यह जरूरी होता है कि बच्चे की जान बचाने के लिएउसे अधिक से अधिक मात्रा में पीने के लिए ऐसे पदार्थ दिए जाएँ, जिनमें भरपूर मात्रा में पानी हो
जब बच्चा करे बार बार उल्टी दस्त घरेलू उपचार करे -When the child repeatedly vomits, heals home remedies -  jab bachcha kare baar baar ultee dast ghareloo upachaar kare -शिशुओं में दस्त (डायरिया) शिशु को उल्टी-दस्त होने पर यें उपाय करें बच्‍चों को डायरिया, पेट संक्रमण व दस्‍त होने पर बच्चों को पतले दस्त | घरेलू इलाज उल्टी दस्त के घरेलु उपचार बच्चे को उल्टी नवजात शिशु को उल्टी उल्टी और दस्त उल्टी दस्त के घरेलु नुस्खे बच्चों में उल्टी होना बच्चों की उल्टी का इलाज दस्त का इलाज उल्टी की दवा नवजात का दूध बाहर निकालना बच्चों को उल्टी होना बच्चों की उल्टी का इलाज नवजात शिशु के नाक से दूध उल्टी बच्चों को उल्टी दस्त बच्चे का दूध निकालना दूध पलटना शिशु का थूक निकालना

  1.  यदि आपका बच्चास्तनपानकरता है तो उसे बार-बार दूध पिलाते रहना चाहिए।
  2. ऐसे समय में पानी उबालकर छान लें व ठंडा कर लें। अब यही पानी हर पंद्रह बीस मिनट के अंतराल पर देती जाएँ।
  3. आप जो भी चीज बच्चे को पिलाएँ उसमें ध्यान रखें कि वह ताजा और शुद्ध हो। तरल पदार्थों में आप बच्चे कोदालका पानी, सूप, चावल का पानी, ताजे फलों का रस और हरे नारियल का पानी और छाछ दे सकती हैं।
  4. यदि अच्छा पका केला उपलब्ध हो तो वह मैश करके बच्चे को खिलाएँ। इन सबके बावजूद भी बच्चे को कोई राहत महसूस न हो तोतुरंत चिकित्सक से संपर्क करें। किसी भी हालत में बारह घंटे से ज्यादा इंतजार न करें।
  5.  बच्चों को इस बीमारी से बचाने के लिए 'विश्व स्वास्थ्य संगठन' ने एक जीवनरक्षक घोल तैयार किया है जिसे 'ओआरएस' कहा जाता है। बच्चे को यह घोल तुरंत देना चाहिए। इसमें मौजूद विशेष तत्वडिहायड्रेशन पर तुरंत काबू पा लेते हैं।
  6. इसी तरह के कुछ अन्य घोल हैं- 'इलेक्ट्रोबियॉन', 'पुनर्जल', 'वेलाइट', 'कोसलाइट एंड रिलाइट' और 'टीटीके', 'ओआरएस'सभी घोल किसी भी मेडिकल स्टोर्स पर आसानी से मिल जाते हैं।
  7.  घोल तैयार करने के लिए एक साफ बर्तन लें। एक लीटर पानी में पाऊच काटकर मिला लें। साफ चम्मच से पाउडर पूरा घुल जाने तक हिलाएँ। इस घोल को ढँककर रखें और बच्चे को थोड़ा-थोड़ा कर पिलाते रहें।
ये भी देखे -


loading...
loading...