loading...

जो आपको चाहिए यहाँ खोज करे

loading...

शुक्रवार, 8 दिसंबर 2017

चमड़ी ,त्वचा के रोग , कारण लक्षण ,और इलाज- Skin diseases, symptoms, and treatment

By
loading...
चमड़ी ,त्वचा के रोग , कारण लक्षण ,और इलाज- Skin diseases, symptoms, and treatment
चर्म रोग बेहद गंभीर रोग है जिसमें त्वचा में दाद के काले निशान पड़ जाते हैं। इसे एक्जिमा भी कहा जाता है। इस रोग में त्वचा पर खुजली, दर्द और जलन होती रहती है। आखिर क्यों होता है 
चमड़ी ,त्वचा के रोग , कारण लक्षण ,और इलाज- Skin diseases, symptoms, and treatment त्वचा के रोग , कारण लक्षण ,और इलाज\ Skin diseases, symptoms, and treatment,चर्म रोग के कारण,चर्म रोग के लक्षणचर्म रोग के उपचार,अलसी के इस्तेमाल से भी चर्म रोग ठीक होता है। अलसी में मौजूद ओमेगा थ्री एसिड शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है जिससे चर्म रोग में आराम मिलता है। अलसी के तेल की 1 से 2 चम्मच का सेवन करें। चर्म रोग कष्टदायी रोग है जिसका समय रहते उपचार कराना जरूरी है। क्योंकि यह धीरे-धीर सारे शरीर में फैल जाता है और रोगी को बेहद परेशानी होती है। इन उपायों के जरिए आप चर्म रोग यानि एक्जिमा से मुक्ति पा सकते हो। यदि एक्जिमा बेहद गंभीर हो तो चिकित्सक को दिखाने में देर न करें। त्वचा रोगों की सूची चर्म रोग की दवा patanjali त्वचा रोग विशेषज्ञ चर्म रोग की अंग्रेजी दवा छाजन रोग चर्म रोग विशेषज्ञ छाल रोग चर्म रोग के कारण चर्म रोग, स्किन एलर्जी | घरेलू इलाज त्वचा रोग (Skin Desease) कारण लक्षण तथा उनके उपचार चमड़ी की एलर्जी सिहुली रोग चर्म रोग के प्रकार छाल रोग त्वचा रोगों की सूची सिहुली स्किन मेडिसिन सिहुली किस कारण से होता है सिहुली ों स्किन

चर्म रोग के कारण
1. रसायनिक चीजों का ज्यादा प्रयोग करना जैसे साबुन, चूना, सोड़ा और डिटर्जेट का अधिक इस्तेमाल करना।
2. पेट में कब्ज का अधिक समय तक होने से भी चर्म रोग होता है।
3. रक्त विकार होने की वजह से भी चर्म रोग होता है।
4. महिलाओं में मासिकधर्म की परेशानी की वजह से भी उन्हें एक्जिमा हो सकता है।
5. किसी एक्जिमा पीड़ित इसान के कपड़े पहनने से भी। यह रोग हो सकता है।

चर्म रोग के लक्षण
एक्जिमा रोग में त्वचा पर छोटे-छोटे दाने निकलने लगते हैं। और फिर ये लाल रंग में बदलने लगते हैं और इनमें खुजली होती रहती है। और खुजलाने से जलन होती है फिर ये दाग के रूप में त्वचा में फैलने लगता है। यदि सारे शरीर में एक्जिमा होता है उससे रोगी को बुखार भी आने लगता है।
चर्म रोग के उपचार
1. समुद्र के पानी से प्रतिदिन नहाने से एक्जिमा ठीक हो जाता है।
2. नमक का सेवन कम कर दें। हो सके तो कुछ समय तक नमक का सेवन बंद ही कर दें।
3. नीम के पत्तों को पानी में उबाल कर उससे रोज स्नान करें। 
4. साफ सुतरे कपड़े पहना करें।
5. खट्टे, चटपटे, और मीठी चीजों का इस्तेमाल न करें। क्योंकि ये रोग को और बढ़ाते हैं।
6. यदि चर्म रोग गीले किस्म का है तो इस पर पानी का प्रयोग न करें।
गेंदे के फूल में एंटी बैक्टीरियल के साथ एंटी वायरल तत्व होते हैं जो चर्म रोग में लाभ देता है। गेंदे की पत्तियों को पानी में अच्छे से उबाल लें और दिन में तीन बार चर्म रोग से प्रभावित जगह पर लगाएं।
अलसी के इस्तेमाल से भी चर्म रोग ठीक होता है । अलसी में मौजूद ओमेगा थ्री एसिड शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है जिससे चर्म रोग में आराम मिलता है। अलसी के तेल की 1 से 2 चम्मच का सेवन करें।
चर्म रोग कष्टदायी रोग है जिसका समय रहते उपचार कराना जरूरी है। क्योंकि यह धीरे-धीर सारे शरीर में फैल जाता है और रोगी को बेहद परेशानी होती है। इन उपायों के जरिए आप चर्म रोग यानि एक्जिमा से मुक्ति पा सकते हो। यदि एक्जिमा बेहद गंभीर हो तो चिकित्सक को दिखाने में देर न करें।
ये भी देखे --
loading...
loading...