loading...

जो आपको चाहिए यहाँ खोज करे

loading...

सोमवार, 4 दिसंबर 2017

स्त्री चरित्र पर वैज्ञानिक शोध ये कहता है --Scientific research on the feminine character, it says -

By
loading...
teg--स्त्री चरित्र पर वैज्ञानिक शोध ये कहता है --Scientific research on the feminine character, it says-स्त्री को क्या चाहिए-चरित्रहीन स्त्री-स्त्री की नाभि-चरित्रहीन की पहचान-चरित्रहीन पत्नी-स्त्री की छाती-स्त्री वशीकरण-चरित्रहीन महिलाओं के लक्षण-

स्त्री चरित्र पर वैज्ञानिक शोध ये कहता है --Scientific research on the feminine character, it says स्त्री चरित्र ।। आधुनिक  शोध् ।Female character .. Adhunik research,ओरत का चरित्र ,स्त्री के बारे में ,ओरत के बारे में ,त्रिया चरित्र ,स्त्री चरित्र पर वैज्ञानिक शोध ये कहता है --Scientific research on the feminine character, it says-स्त्री को क्या चाहिए-चरित्रहीन स्त्री-स्त्री की नाभि-चरित्रहीन की पहचान-चरित्रहीन पत्नी-स्त्री की छाती-स्त्री वशीकरण-चरित्रहीन महिलाओं के लक्षण-चरित्रहीन स्त्री की पहचान चरित्रहीन पत्नी के लक्षण त्रिया चरित्र गरम स्त्री चरित्रहीन महिलाओं की पहचान स्त्री के प्रकार चरित्रहीन लड़कियों की पहचान चरित्रहीन पुरुष की पहचान-


बुरे लोग अंग्रेज़ों में भी हैं लेकिन उनके बहुसंख्यक लोगों का स्वभाव शोध करने का बन चुका है। बात चाहे कितनी ही मामूली क्यों न हो लेकिन बात मानने से पहले वे यह ज़रूर देखेंगे कि बात में सच्चाई कितनी है ?
और यह हमारे लिए कितनी हितकारी है ?
मस्लन औरत की वफ़ा के साथ उसकी बेवफ़ाई के क़िस्से भी सदा से ही आम हैं और बेवफ़ा औरत के लिए ही भारत में त्रिया चरित्र बोला जाता है लेकिन अंग्रेज़ों ने इस पर भी शोध कर डाला।
देखिए आप भी यह दिलचस्प शोध :--
 धोखा देने में महिलाएं भी नहीं हैं कुछ कम---
    आमतौर पर केवल पुरुषों के विषय में ही यह माना जाता है कि वह अपने प्रेम-संबंधों को लेकर संजीदा नहीं रहते. वह जरूरत पड़ने पर अपने साथी को धोखा देने से भी नहीं चूकते. लेकिन हाल ही में हुए एक अध्ययन ने यह स्पष्ट कर दिया है कि हमारी मानसिकता बिल्कुल बेबुनियाद है क्योंकि विश्वासघात और संबंधों से खेलना केवल पुरुषों का ही शौक नहीं है बल्कि महिलाएं भी इन तौर-तरीकों को अपनाने से नहीं हिचकतीं. प्रेमी को धोखा देने और उसके पीठ पीछे दूसरा प्रेम-संबंध बनाने में महिलाएं पुरुष के समान नहीं बल्कि उनसे कहीं ज्यादा आगे हैं.
    डेली एक्सप्रेस में छपे एक शोध के नतीजों ने यह खुलासा किया है कि केवल पुरुष नहीं बल्कि महिलाएं भी अपने रिश्ते की गंभीरता को समझने में चूक कर बैठती हैं. लव-ट्राएंगल जैसे संबंधों में महिलाओं की भागीदारी अधिक देखी जा सकती है. इस सर्वेक्षण में 2,000 लोगों को शामिल किया गया था जिनमें से लगभग एक चौथाई महिलाओं ने यह बात स्वीकार की है कि उन्होंने एक ही समय में एक से ज्यादा पुरुषों के साथ प्रेम-संबंध स्थापित किए हैं. जबकि केवल 15% पुरुषों ने ही यह माना है कि उन्होंने एक बार में दो से ज्यादा महिलाओं से प्रेम किया है.
    शोधकर्ताओं ने पाया कि लव-ट्राएंगल में महिलाओं की अधिक संलिप्तता का कारण यह है कि वह पुरुषों की अपेक्षा जल्द ही भावनात्मक तौर पर जुड़ जाती हैं जिसके कारण वह प्रेम और आकर्षण में भिन्नता नहीं कर पातीं. फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल नेटवर्किंग साइटों के आगमन से भी लोगों की जीवनशैली बहुत हद तक प्रभावित हुई है. ऐसी साइटों पर पर अधिक समय बिताने के कारण महिलाएं विभिन्न स्वभाव और व्यक्तित्व वाले पुरुषों के संपर्क में आ जाती हैं. लगातार बात करने और एक-दूसरे के संपर्क में रहने के कारण वह उनके साथ जुड़ाव महसूस करने लगती हैं और अपनी भावनाओं पर काबू ना रख पाने के कारण वह जल्द ही लव ट्राएंगल के फेर में पड़ जाती हैं.
    इस शोध की सबसे हैरान करने वाली स्थापना यह है कि अधिकांश लोग यह मानते हैं कि एक समय में दो या दो से अधिक लोगों से प्यार करना और उनके साथ संबंध बनाना कोई गलत बात नहीं हैं. व्यक्ति चाहे तो वह दो लोगों से प्यार कर सकता है.
    महिलाओं के विषय में एक और बात सामने आई है कि वे अधिक आमदनी वाले पुरुषों की तरफ ज्यादा आकर्षित होती हैं. धन संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए महिलाएं आर्थिक रूप से सुदृढ़ पुरुष को मना नहीं कर पातीं.
ये भी देखे ----
loading...
loading...