loading...

जो आपको चाहिए यहाँ खोज करे

loading...

रविवार, 3 जनवरी 2016

भूलने की बीमारी है तो याददाश्त बढ़ाए पक्का इलाज -Surest cure amnesia increase the memory -

By
loading...
teg -भूलने की बीमारी है तो याददाश्त बढ़ाए पक्का इलाज -Surest cure amnesia increase the memory -भूलने की बीमारी का इलाज -भूलने का कारण-याददाश्त बढाने के उपाय-दिमाग की नसें-अल्जाइमर रोग-मनोरोग के उपाय-डिमेंशिया-अल्जाइमर क्या है-
क्या आप भी अक्सर क्रेडिट कार्ड का बिल भरना भूल जाते हैं और बाद में लेट पेमेंट भरते हैं? याद किया हुआ हर उत्तर परीक्षा के दौरान भूल जाते हैं? या फिर जेब में चश्मा रखकर पूरे घर में खोजते हैं? बार-बार भूलने की दिक्कत से न सिर्फ आपको कई मौकों पर शर्मिंदगी उठानी पड़ती है बल्कि यह आपके लिए एल्जाइमर जैसे गंभीर रोग का इशारा हो सकती है।


भूलने की बीमारी है तो याददाश्त बढ़ाए पक्का इलाज -Surest cure amnesia increase the memory -
ऐसे में योग की मदद से आप अपनी याददाश्त तेज कर सकते हैं। हाल में हुए एक अमेरिकी शोध के अनुसार, प्रतिदिन 20 मिनट तक योगासनों का अभ्यास दिमाग के लिए ट्रेडमिल पर घंटों दौड़ने से अधिक फायदेमंद है। आइए जानें याददाश्त बढ़ाने और दिमाग तेज करने वाले कुछ प्रभावी योगासनों के बारे में।

सर्वांगासन
प्रतिदिन सर्वांगासन के अभ्यास से दिमाग में रक्त संचार अच्छी तरह रहता है और भूलने की दिक्कत ।
- इसे करने के लिए पीठ के बल सीधे लेट जाएं। दोनों पैरों को साथ रखें और हाथों को कमर पर रखें।
- सांस अंदर की ओर लेते हुए दोनों पैरों को को पहले 30 डिग्री के कोण तक उठाएं, कुछ सेकंड इस अवस्था में रहने के बाद 60 डिग्री तक उठाएं और फिर 90 डिग्री तक उठाएं।
- अब सांस छोड़ते हुए दोनों पैरों को नीचे ले आएं और कुछ सेकंड शवासन में लेटें।
नोटः कमर और गर्दन में दर्द के मरीज इस आसन को न करें।

भुजंगासन
भुजंगासन न सिर्फ याददाश्त तेज रखता है बल्कि कमर दर्द से लेकर साटिका और स्लिप डिस्क जैसे रोगों में लाभदायक है।
- इसे करने के लिए पहले पेट के बल सीधे लेट जाएं और दोनों हाथों को कंधों के समानांतर रखें।
- अब सांस लेते हुए हाथों के बल शरीर के अग्रभाग को ऊपर की ओर उठाएं और जितना हो सकें उतना खींचें।
- 30 सेकंड तक इसी अवस्था में रहने के बाद सांस छोड़ते हुए वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं।

नोटः हार्निया के मरीज इस आसन को न करें।
कपालभाति प्राणायाम
इसे करने से श्वास की गति सामान्य होती है, एकाग्रता बढ़ती है और मस्तिष्क तक रक्त का प्रवाह अच्छी तरह होता है।
- इसे करने के लिए पहले सु‌खासन में बैठ जाएं।
- अब गहरी सांस लें और फिर मुंह बंद कर तेजी से सांस बाहर की ओर छोड़ें। इस दौरान पेट की गति साफ दिखनी चाहिए।
- 30 सेकंड बाद सामान्य अवस्था में आ जाएं।
ये भी देखे --
loading...
loading...