loading...

जो आपको चाहिए यहाँ खोज करे

loading...

शनिवार, 12 दिसंबर 2015

जानिए क्रिकेट के रोचक इतिहास के बारे में ,History of Cricket,

By
loading...



 क्रिकेट का इतिहास

क्रिकेट के ज्ञात मूल से लेकर इंग्लैंड का प्रमुख खेल बन जाने और अन्य देशों में इसकी शुरुआत किये जाने तक इस खेल के विकास के पदचिह्न 1725 तक क्रिकेट का इतिहास में दर्ज हैं।
जानिए क्रिकेट के रोचक इतिहास के बारे में ,History of Cricket,


क्रिकेट पर पुराना निश्चित सन्दर्भ 1598 में मिलता है और इससे साफ हो जाता है कि क्रिकेट 1550 की सदी में खेला जाता था, लेकिन इसकी असली उत्पत्ति एक रहस्य ही है। एक निश्चित हद तक इतना कहा जा सकता है कि इसकी शुरूआत 1550 से पहले हुई थी, दक्षिण-पूर्व इंग्लैंड के केंट, ससेक्स, सरे में से कहीं से हुई, ज्यादा संभावना उस क्षेत्र से जो वेल्ड के रूप में जाना जाता है। दूसरे खेलों जैसे कि स्टूलबॉल और राउंडर्स की तरह, बल्लेबाज़, गेंदबाज़ और क्षेत्ररक्षकों के साथ क्रिकेट अपेक्षाकृत छोटे घास पर खेला जा सकता है, विशेष रूप से 1760 के दशक तक गेंद मैदान में दिया जाता था। इसलिए जंगलों की सफाई और जहां भेड़ चरते हैं, खेल के लिए उपयुक्त जगह हो सकती है।

क्रिकेट के बारे में छिटपुट उपलब्ध जानकारी से पता चलता है कि मूल रूप से यह बच्चों का खेल था। इसके बाद 17वीं शताब्दी में इसे कर्मचारियों द्वारा अपना लिया गया। चार्ल्स प्रथम के शासनकाल के दौरान इसके संरक्षक और कभी-कभी खिलाड़ी के रूप में कुलीन वर्ग की दिलचस्पी इसमें बढ़ने लगी। उनके लिए इसमें सबसे बड़ा आकर्षण यह था कि इस खेल में जुआ खेलने की गुंजाइश थी और इसी कारण प्रत्यावर्तन के बाद के वर्षों में यह फैलता गया। हनोवेरियन शासन के समय से, क्रिकेट में निवेश ने पेशेवर खिलाड़ी और पहला प्रमुख क्लब तैयार किया, इस तरह लंदन और दक्षिण इंग्लैंड में यह खेल लोकप्रिय सामाजिक गतिविधि के रूप में स्थापित हुआ। इस बीच अंग्रेज़ उपनिवेशवादियों ने उत्तर अमेरिका और वेस्ट इंडीज में क्रिकेट की शुरुआत की; और ईस्ट इंडिया कंपनी के नाविक और व्यापारी इसे भारतीय उपमहाद्वीप ले गये।

बच्चों के खेल के रूप में जन्म

क्रिकेट के जन्म के बारे में व्यापक रूप से स्वीकृत सिद्धांत यह है कि मध्ययुगीन काल की शुरूआत में वेल्ड, जो कि केंट और सुसेक्स के बीच स्थित है, के कृषि और धातु के काम से जुड़े समुदाय ने इसे विकसित किया। ये काउंटी और पड़ोसी सरे उत्कृष्टता के प्रारंभिक केंद्र हुआ करते थे और यहीं से यह खेल जल्द ही लंदन, जहां इसकी स्थायी लोकप्रियता सुनिश्चित थी और बर्कशायर, एसेक्स, हैम्पशायर और मिडलसेक्स जैसे दक्षिण के काउंटी में पहुंचा।

उस समय बहुत सारे शब्दों के आम उपयोग हुआ करते थे, जो "क्रिकेट" नाम के लिए मुमकिन स्रोत माने जाते हैं। 1598 में सबसे आरंभिक काल के ज्ञात सन्दर्भ में यह क्रेक्केट (creckett) कहलाता था। दक्षिण-पूर्व इंग्लैंड और फ्लैंडर्स के प्रांत, जो तब बरगुंडी के डच के अंतर्गत था, के बीच मजबूत मध्ययुगीन व्यापार संबंध के हवाले से कहा जा सकता है कि यह नाम मध्य डच के क्रिक (-ए), यानि छड़ी से व्युत्पन्न है; या फिर पुरानी अंग्रेज़ी के क्रिक या क्राइके अर्थात बैसाखी या लाठी से लिया गया है।सामुएल जॉनसन के अंग्रेज़ी भाषा के शब्दकोश (1755) में उन्होंने क्रिकेट की व्युत्पत्ति "क्राइके, सक्सोन, एक छड़ी" से बताया है। पुरानी फ्रांसीसी भाषा में, क्रिक्वेट का मतलब लगता है कि एक किस्म का मुगदर या छड़ी हुआ करता था, हालांकि यह क्रोकेट का मूल हो सकता है। एक अन्य संभावित स्रोत मध्य डच शब्द क्रिकस्टोल संभाव्य स्रोत है, जिसका अर्थ एक लंबा हल्का स्टूल है, जिसका उपयोग चर्च में घुटने टेकने के लिए किया जाता था, इसका आकार शुरूआती क्रिकेट में इस्तेमाल होनेवाले दो स्टंप विकेट से मिलता-जुलता था। बॉन युनिवर्सिटी के यूरोपीय भाषा के विशेषज्ञ हाइनर गिलमेस्टर के अनुसार, हॉकी के लिए मध्य डच भाषा का शब्द मेट डी (क्रिक केट) सेन [met de (krik ket)sen] (अर्थात छड़ी के साथ पीछा करना) से "क्रिकेट" की व्युत्पत्ति हुई है। गिलमेस्टर का मानना है कि यह खेल मूल रूप से फ्लेमि‍यन मूल का है, लेकिन इस मामले में वहां अब भी अनिश्चितता बनी हुई है।संभवत: क्रिकेट बच्चों द्वारा ही आविष्कृत है और कई पीढ़ियों से ‍अनिवार्य तौर पर बच्चों के खेल के रूप में यह जारी रहा है। गेंद फेंकने को पुराना खेल मानकर, संभवत: इसका चलन लकड़ी की गेंद से हुआ हो, जिसे लक्ष्य तक पहुंचने से रोकने के लिए बल्लेबाज द्वारा रोकने की कोशिश की जाती थी। मूल रूप से भेड़ के ऊन की गांठ (या फिर पत्थर या छोटी लकड़ी का गोला) को गेंद; छड़ी या गड़ेरिये की लग्गी या कोई अन्य कृषि उपकरण को बल्ला; और एक तिपाही या पेड़ के ठूंठ को एक प्रवेशद्वार (जैसे कि विकेट द्वार) को विकेट मान कर भेड़ के चारागाह या वृक्षविहीन स्थान पर यह खेल हुआ करता था। हो सकता है, इस खेल का आविष्कार 1300 से पहले किसी समय नॉर्मन या प्लांटाजेनेट के समय में हुआ हो; या फिर 1066 से पहले सक्सोन काल में। क्रिकेट तत्वतः स्टूलबॉल, राउंडर्स और बेसबॉल की तरह ही एक प्रकार का खेल है, लेकिन यह इनमें से किससे विकसित हुआ या विपरीत क्रम में अन्य खेल इससे विकसित हुए, इसे तय नहीं किया जा सकता है। इस निर्दिष्ट क्षेत्र के बारे में ऑक्सफोर्डशायर में स्टूलबॉल पर 1523 सन्दर्भ हैं; हो सकता है यह किसी ऐसे खेल का जातिगत शब्द हो, जिसमें गेंद को किसी भी तरह से बल्ले या छड़ी से मारा जाता हो। 18वीं शताब्दी के सन्दर्भों में क्रिकेट के साथ स्टूलबॉल का संयोजन किया जाए तो यह साफ संकेत देता है कि यह एक अलग कार्यकलाप था।
"क्ररें

गुरुवार 10 मार्च 1300 को (जूलियन कैलेंडर, जबकि ग्रेगोरियन साल 1301 होगा), इंग्लैंड के राजा एडवर्ड प्रथम के निजी खाते में जॉन डी लीक ऑफ मोनीज को दी गयी उस धन राशि का भी उल्लेख है, जो उन्होंने वेस्टमिंस्टर और नेवेडेन में युवराज ‍एडवर्ड के "क्रेग और अन्य खेल" खेलने के सिलसिले में भुगतान किया था। राजकुमार एडवर्ड, वेल्स के भावी युवराज की उम्र उस समय 15 वर्ष थी। माना जाता है कि "क्रेग" क्रिकेट का आरंभिक रूप था। इस ‍सोच के समर्थन में कोई प्रमाण नहीं है और हो सकता है क्रेग एकदम से कुछ अलग ही हो।[2] ऐसा कहा गया है कि क्रेग क्रैक की पुरानी वर्तनी है, इस आयरिश शब्द का अर्थ आमोद, मनोरंजन, या सुखद संभाषण होता है। क्रैक (crack) शब्द का यह अर्थ आयरिश अंग्रेज़ी, स्कॉटिश अंग्रेज़ी और पूर्वोत्तर इंग्लैंड के जॉर्डी में पाया जाता है। आयरलैंड में क्रैक (crack) के बजाए क्रैक (craic) वर्तनी ज्यादा प्रचलित है।
प्रारंभिक निश्चित सन्दर्भसंपादित करें
गिल्डफोर्ड में द रोयल ग्रामर स्कूल जहां जॉन डेरीक और उनके दोस्त "क्रिकेट" खेला करते थे.

loading...
loading...